तिन मंत्री मोरल कहानी-Moral Story Hindi

0
787

तिन मंत्री-Moral Story:एक राजा था।उस राजा केे दरबार में तीन मंत्री थे।राजा ने एक तीन उन तीनों को आपने दरबार में बुलाया और उन तीनों मंत्रियो को थैले पकड़ा दिए और आदेश दिया की “तुम तीनो बाग में जाकर इन थैलो मे फ्लो को भरके आवो।राजा की आज्ञा लेकर वह तीनो मंत्री बाग में चले गए।

पहला मंत्री बाग में गया और वह सोचने लगा “राजा को इतनी फुर्सत कहा है कि थैले को खोलकर देखेंगे कि थैले में क्या है।इसलिए उस मंत्री में थैले में घास पूस भर दिए।

तिन मंत्री मोरल कहानी-Moral Story Hindi
तिन मंत्री मोरल कहानी-Moral Story Hindi

दूसरा मंत्री बाग में गया और उसने सोचा “राजा को फ्लो का क्या काम?पहले से ही राजा के वहा इतने सारे फल है राजा तो इन फलों को खाएंगे ही नही।यह सोच मंत्री ने अपने थैले मे अच्छे बुरे फ्लो को भर दिया।

तीसरा मंत्री बाग मे गया और उसने सोचा “मे अपने थैले में अच्छे अच्छे फ्लो को भर लेता हूं।राजा खाये या ना खाये किसी ना किसी को काम तो आहि जायेंगे।

अब तीनो मंत्री अपने थेलो के साथ राजा के दरबार में पहुँचे।पर राजाने किसी के थैले को खोल कर नहीं देखा और राजा ने अपने सैनिकों को आदेश दिया की इन तीनो को एक महीने के लिए जेल ने दाल दिया जाये औऱ इनको कोई भी खाना नहीं देगा।इन सभी को थैले में रखे हुए फ्लो को ही खाना होगा।तीनो को जेल में बंद कर दिया गया।

फिर क्या था पहले मंत्री ने तो आपने थैले में घास पूस भरे थे इसलिए जेल में रहने की दो-तीन दिन बाद ही उसकी भूख के कारण मृत्यु हो गयी।दूसरे मंत्री ने आने थैले मे अच्छे बुरे फ्लो को भर रखा था इसलिए वह इन फलों को खाकर कुछ ही दिनों में बिमार पड़ गया।तीसरे मंत्री के थैले मे तो अच्छे अच्छे फल थे इसलिए उसने वह फल खाकर एक महीना गुजार दिया।

दोस्तों,आप जितना बुरा दुसरो के साथ करेंगे उतना ही बुरा आपके साथ भी होगा।ये जिंदगी आपको कब कोनसा दिन दिखा दे ये नहीं कहा जा सकता।इसलिए अपने जीवनरूपी थैले मे अच्छे अच्छे और चूने हुये फ्लो को एकत्र करते जाइये,और अपने आपसे पूछना मत भूलिये की आपने अपनी जिंदगी मे अब तक कितने फ्लो को एकत्र किए है।

Also read This Stories:

  1. एक बाल्टी दुध
  2. तिन साधू 
  3. हाथी और बिल्ली 
  4. धोबी का गधा 

 

दोस्तों अगर आपके पास भी प्रेरनादायी कोई कहानी है जो लगो के लिए useful हो सकती है तो हमें वह कहानी ईमेल करे हम आपके फोटो और नाम क साथ हम यहाँ पब्लिश करेंगे.अगर आपकी कोई वेबसाइट है तो उसे भी हमे send करे हम आपकी वेबसाइट को भी यहाँ पब्लिश करेंगे.और अगर आपकी कहानी लोगो क लिए उपयोगी रही तो हमारी तरफ से आपको पुरस्कार भी दिया जायेगा.

हमारा ईमेल है:contact@imsstories.com

फॉलो us on twitter

Leave a Reply