Love vs Attraction Hindi-Love & Attraction Difference

12
747

Love vs Attraction In Hindi:दोस्तों जिंदंगी के इस सुहाने सफर में कई ऐसे लोग हमसे टकराते है जिस से हम मिलकर समझ नही पाते कि हमे सामने वाले से love है या फिर बस हमारा उनकी तरफ attraction है।

दोस्तो में अपने नजरिये से और अपने तरीके से explain करू तो love का सीधा अर्थ होता है sacrifice मतलब की त्याग।जिसमें हमारा कोई स्वार्थ नही होता।Example के लिए लिया जाए तो जैसे कि हिमारे माता पिता हमारी छोटी छोटी इच्छओं को पूरा करने के लिए अपनी इच्छओं को त्याग देते है।वो बस चाहते है कि बस मेरा बेटा या बेटी हमेशा खुश रहे।वो हमें हमेशा खुश देखना चाहते है।वो हमें हमेशा मुस्कुराता हुआ देखना चाहते है।प्यार एक ऐसा एहसास है जिसमे सामने वाले कि भावनाओ का कदर किया जाता है उसके भावनाओ का दिल से सम्मान किया जाता है।प्यार मे इंसान सुख दुःख में साथ मे खड़ा रहता है।प्यार में कोई स्वार्थ नही होता।हम अपनी सारी खुशी त्याग कर बस सामने वाले को खुश देखना चाहते है।

Love vs Attraction In Hindi
Love vs Attraction In Hindi
चलिये हम बचपन की ही बात कर लेते है।जब कभी हम गलतियां करते थे तब हमें माता पिता समझाते थे, डाँटते थे कभी कभी तो पीटते भी थे औऱ कई बार तो हमे खाना भी नही मिलता था तब मम्मी आती थी और चुपके से हमे हमारी गलतियों को भूल कर प्यार से खाना खिलाती थी।बिल्कुल इसी को हम प्यार कहते है।

 

प्यार में सामने वाले कि गलती होते हुये भी माफ कर देते है।आपने देखा होगा कि भले बेटा चोर हो डाकू हो जुवारी हो पर इसके बावजूद उसके माता पिता उस से प्यार ही करते है।इस तरह कोई प्रेमी ये नहीं देखता की सामने वाला कैसा है।कहा जाता है ना कि प्यार अंधा होता है।दोस्तो ये बात 101% सही है।प्यार में कोई यह नही देखता कि सामने वाला इंसान कैसा है।Actully ये गलत है भावजुत दोस्तो प्यार तो प्यार होता है।

 

वही अब बात करते है हम attraction की।वही attraction विल्कुल अलग होता है।इस मे कोई sacrifice नही होता इस मे खाली कुछ पाने की चाह होती है,इस मे अपना लाभ होता है।attraction में इंसान को कुछ पाने की चाह होती है ये चाह किसी भी प्रकार की हो सकती है जैसे के सामने वाले कि खूबसूरती, physical हो सकता है,अकेलापन  का भरने का हो सकता है और भी बहुत से attraction हो सकते है।attraction में इंसान अपनी खुशी देखता है।में इश्को अच्छे से समझाने के लिए एक छोटा सा example देता हूँ।

 

मान लीजिए आपने आपने अपने घर मे एक पौधा लगाया और उसके कुछ दिन बाद उस पर एक फूल आया।वो फूल आपको अच्छा लगा और आपने उसे तोड़ कर अपने पास रख लिया।आपको पता है ये क्या है?दोस्तो इसी को हम attraction कहते है।कैसे?दोस्तो थोड़ी देर के लिए सोचिए वो फूल क्या हमेशा इस ही तरह रहेगा?क्या वो हमेशा उसी तरह खुश्बू देता रहेगा?नही ये सिर्फ कुछ देर के लिए रहेगा।

 

अब हम इस फूल के दूसरे पहलू को देखते है।थोड़ा और पीछे चलते है। आपको फूल पसंद आया।आपको  वो अच्छा लगा।अब आप उसको तोड़ेंगे नही बल्कि उस फूल का ध्यान रखेंगे।उस टाइम पर पानी देंगे, खाद डालेंगे, उसकी देख रेख रखेंगे ताकि वो जल्दी सुख न जाये और हमेशा उसे खिला हुआ और खुशबू बिखेरता हुआ देख सके।

 

दोस्तो यही छोटी सी बात आज की genertion समझ नही पा रही और attraction को लव समझ कर बहुत बड़ा नुकसान कर रही है।दोस्तो अगर आप किसी relationship में रहते हुए आपको bore फील हो रहा है तो दोस्तो वो बिल्कुल ही attraction है।क्योंकि सच यही है कि आप जिस इंसान से प्यार करते है उस के साथ कभी आप बोर हो ही नही सकते।

 

Follow my blog with Bloglovin
 

Also read This Hindi Motivational Stories:

  1. अपनों के जाने का गम

  2. क्या हमारे माता-पिता हमे आगे बढ़ने से रोक रहे है

  3. नदी का पानी हिंदी कहानी

  4. फुटा घड़ा प्रेरणादायी कहानी

  5. कौवे की प्रेरक कहानी

 

Do You Have More Story About love vs attraction?than please send us on our email

 

दोस्तों अगर आपके पास भी प्रेरनादायी कोई कहानी है जो लोगो के लिए useful हो सकती है तो हमें वह कहानी ईमेल करे हम आपके फोटो और नाम क साथ हम यहाँ पब्लिश करेंगे.अगर आपकी कोई वेबसाइट है तो उसे भी हमे send करे हम आपकी वेबसाइट को भी यहाँ पब्लिश करेंगे जो dofollow लिंक होगी.और अगर आपकी कहानी लोगो क लिए उपयोगी रही तो हमारी तरफ से आपको पुरस्कार भी दिया जायेगा.

हमारा ईमेल है:contact@imsstories.com

visit our Youtube channel IMS STOREIS

12 COMMENTS

  1. You really make it seem really easy together with your presentation but I to find this topic to be actually something that
    I feel I might never understand. It kind of feels too complicated and extremely
    large for me. I am having a look ahead on your subsequent submit, I will attempt to get the grasp of it!

  2. Greetings! I know this is somewhat off topic but
    I was wondering which blog platform are you using for this website?
    I’m getting fed up of WordPress because I’ve had issues with hackers and I’m looking at alternatives
    for another platform. I would be great if you could point me in the
    direction of a good platform.

Leave a Reply