सिकंजी का स्वाद-Short Hindi Motivational stories

0
518

Short Hindi Motivational stories(सिकंजी का स्वाद):किस एक कॉलेज में एक अनिल नाम का एक व्यक्ति रहता था।वह बड़ा ही चुपचाप कॉलेज के लेक्चर्स में बैठे रेहता था।न किसी से बात करता नाही किसी के साथ घूमता फिरता था।इसलिए उसके कोई दोस्त भी नहीं थे।वह हमेशा कुछ परेसान रहता था,पर उस पर कोई ध्यान नहीं देता था।।

एक दिन क्लास चल रही थी।उसे गुमसुम देख एक टीचर ने उसकी वजह जानने की कोशिश की इसलिए उन्होंने क्लास के बाद मिलने को कहा।

सिकंजी का स्वाद-Short Hindi Motivational stories
सिकंजी का स्वाद-Short Hindi Motivational stories

क्लास खत्म होते ही अनिल टीचर के रूम में पहुँचा।टीचर ने अनिल से प्रश्न किया “बेठा,में देखता हूं कि तुम हमेशा क्लास में अकेले बेठे रहते हो।किसी से घुलते मिलते भी नहीं हो,भला में इश्का कारण जान सकता हूँ?”

अनिल बोला “मास्टर जी, दरसल मेरा past बोहोत ख़राब रहा।मेरे पास्ट बड़ी बड़ी दुर्घटनाये घटी, उसी को लेकर में परेशान रहता हूँ।

टीचर जी ने ध्यान से उसकी सारी बाते सुनी और उसको अगेले दिन अपने घर पर बकाया।

अगेले दिन,अनिल ठीक बताये समय पर टीचर के घर पंहुचा।सर ने दरवाजा खोला और अनिल को घर के अंदर ले गए।टीचर जी किचन में से गए औऱ शिकंजी बनाने लगे।टीचर जी ने जान बूझकर शिकंजी में नमक ज्यादा डाल दिये और चीनी की मात्रा कम ही राखी।फिर वह शिकंजी का ग्लास ले कर अनिल को दे दिये।

अनिल से शिकंजी पीते ही अजीब सा मुह बना लिया।

टीचर जी ने पूछा “क्या हुआ?शिकंजी पसंद नहीं आयी?”

अनिल ने उत्तर दिया “जी।इस में नमक ज्यादा है।”इतनी बात अनिल बोल ही रहा था कि टीचर जी ने अनिल के हाथ से वह गिलास ले कर बोले “ऑफ़ ओह,कोई बात नहीं में इश्को फेक देता हूं,अब यह कोई काम का नहीं रहा।”

अनिल ने उत्तर दिया “अरे टीचर जी शिकंजी बेकार नहीं हुआ अभी इसमें नमक अधिक हो गया तो क्या हुआ हम इस में थोड़ा सा चीनी मिला देंगे तो यह बिलुकल ठीक हो जायेगा।”

टीचर ही गंभीर होते हुये बोले “बिलकुल सही अनिल,यही तो में तुम्हे समझाना चाहता हूँ।इशी स्थिति शिकंजी को तुम अपने लाइफ के साथ compare करो।शिकंजी में नमक ज्यादा होना हमारे साथ लाइफ में हुये bad experiment की तरह है।अब तुम इस बात को समझो…हम उस शिकंजी में से नमक ज्यादा पड़ा है उस में से नमक नहीं निकाल सकते,इसी प्रकार से हमारे past में हुयी बुरी हुयी घटनाओ को अलग नहीं कर सकते।परन्तु जिस तरह हम शिकंजी में चीनी डाल कर उसका स्वाद बदल सकते है उसी प्रकार से हमारे जीवन में पड़ी कड़वाहट को कम करने के लिए उसमे मिठास घोलनी पड़ती है।

दोस्तों,हमारे जिंदंगी में भी कई लोगो को past में हुयी परेशानी से हम अपने future को ख़राब कर देते है हम हमेशा past में हुयी घटनाओ को यद् करके दुखी रहते है।दोस्त अगर आप लोग हमेशा भुत को ही पकड़ कर रोते रंहेंगे तो ना तो वर्तमान सही होगा और नहीं भविष्य उज्व्वल हो पायेगा।हमे जरूरत है कि हम अपने past को भुला कर उनमे और मीठे लम्हो को डाले ताकि हमारी life में फिर से एक बार मिठास आ सके।

visit our Youtube Channel for Short Hindi Motivational stories

 

Also read This Stories:

  1. Beti Bachao Beti Padhao Hindi Kahani
  2. में एसा क्यों हूँ.
  3. धक्का 
  4. आखरी प्रयास 

 

दोस्तों अगर आपके पास भी प्रेरनादायी कोई कहानी है जो लगो के लिए useful हो सकती है तो हमें वह कहानी ईमेल करे हम आपके फोटो और नाम क साथ हम यहाँ पब्लिश करेंगे.अगर आपकी कोई वेबसाइट है तो उसे भी हमे send करे हम आपकी वेबसाइट को भी यहाँ पब्लिश करेंगे.और अगर आपकी कहानी लोगो क लिए उपयोगी रही तो हमारी तरफ से आपको पुरस्कार भी दिया जायेगा.

हमारा ईमेल है:contact@imsstories.com

Want t earn CryptoCurrency?Like BTC,LTC,DOGE,PPC,XMP etc

Than visit our another website faucetsites.tk

Short Hindi Motivational stories

Leave a Reply